20+ Dhoka Shayari – 20 से भी ज्यादा धोके पर शायरी Shayari On Dhoka हिंदी में

Hello Guys, क्या आप Dhoka Shayari की तलाश में है तो आज हम आपके लिए टॉप की 20+ धोके पर शायरी लेकर आये है जिसे आप अपने साथ धोका करने वाले अपने किसी फ्रेंड्स या फिर अपने गर्लफ्रेंड को सेंड कर सकते है और उन्हें शायरी के माध्यम से जला सकते है 

Shayari On Dhoka पर जाए 😉 

पल पल उसका साथ निभाते हम
एक इशारे पे दुनिया छोड़ जाते हम
समुन्द्र के बीच में पहुच कर फरेब किया उसने
वो कहता तो किनारे पर ही डूब जाते हम

टुटा हो दिल तो दुःख होता है
करके मोहब्बत किसी से ये दिल रोता है
दर्द का अहसास तो तब हो
और उसके दिल में कोई और होता है

धोखा देती है अक्सर मासूम चेहरे की चमक,
हर काँच के टुकड़े को हीरा नहीं कहते

जानता था की वो धोखा देगी एक दिन
पर चुप रहा क्यूंकि उसके धोखे में जी सकता हूँ
पर उसके बिना नहीं

धोखा भी बादाम की तरह है 
जितना खाओगे उतनी अक्ल आती है

इश्क में इसलिए भी धोखा खानें लगें हैं लोग
दिल की जगह जिस्म को चाहनें लगे हैं लोग

मैंने खाया है चिरागों से इस कदर धोखा,
मै जल रहा हूँ सालों से मगर रौशनी नहीं होती

धोखा दिया था जब तूने मुझे 
जिंदगी से मैं नाराज था,
सोचा कि दिल से तुझे निकाल दूं 
मगर कंबख्त दिल भी तेरे पास था

कुछ लोग इतने गरीब होते है की, 
देने के लिए कुछ नहीं होता तो धोखा दे देते है

अनजाने में यूँ ही हम दिल गँवा बैठे,
इस प्यार में कैसे धोखा खा बैठे,
उनसे क्या गिला करें भूल तो हमारी थी
जो बिना दिलवालों से ही दिल लगा बैठे

तकलीफ ये नही की किस्मत ने मुझे धोखा दिया,
मेरा यकीन तुम पर था किस्मत पर नही

कौन है इस जहाँ मे जिसे धोखा नहीं मिला,
शायद वही है ईमानदार जिसे मौक़ा नहीं मिला

धोखा देती है शरीफ चेहरों की चमक अक्सर,
हर कांच का टूकड़ा हीरा नहीं होता

लोग कहते है प्यार मे धोखा मिलता है 
पर जो कहते है वो मेरे सनम को नही देखा

जब दो टूटे हुए दिल मिलते है, 
तब मोहब्बत में धोखा नहीं होता

देखा है जिदंगी में हमने ये आज़मा के
देते है यार धोख़ा दिल के करीब ला के

दिल तो पहली बार ही टूट गया था
बाद में तो इसने जिद कर ली थी धोखा खाने की

किसी की मजबूरी का मजाक ना बनाओ यारों
ज़िन्दगी कभी मौका देती है तो कभी धोखा भी देती है

धोखा तो हर किसी को मिलना चाहिए 
जीवन में एक बार वरना कुछ अधूरा सा लगता है

कदम युही डगमगा गए
सभालना हम भी जानते थे
ठोकर लगी उस पत्थर से
जिसे अपना समझते थे

आपकी आँखे अक्सर वही लोग खोलते है
जिनपर आप आँखे बंद करके विश्वाश करते है

Let’s wrap it,

हम उमीद करते है आपको धोके पर शायरी यानी Dhoka Shayari पसंद आई होगी अगर आपको shayari on dhoka पसंद आई इस पोस्ट को अपने सोशल मीडिया अकाउंट पर अपने दोस्तों के साथ शेयर करे अगर आपको इस पोस्ट से रिलेटेड कोई सवाल हो तो आप हमें कमेंट बॉक्स में बता  सकते है

और शायरी पढ़े 😉