Raksha Bandhan Shayari For Sister – बहन के लिए रक्षा बंधन शायरी !

अपनी दुआओं में जो, उसका ज़िकर करता है,
वो भाई है जो ख़ुद से पहले, बहन की फ़िकर करता है
रक्षाबंधन की हार्दिक शुभकामनायें

ये लम्हा कुछ ख़ास है,
बहन के हाथो मैं भाई का हाथ है,
ओह सिस्टर तेरे लीये मेरे पास कुछ खास है,
तेरी खुशी के लिए मेरी प्यारी बहन,
तेरा भाई हमेशा तेरे साथ है..!!
रक्षाबंधन की हार्दिक शुभकामनायें

किसी के ज़ख़्म पर चाहत से पट्टी कौन बाँधेगा,
अगर बहनें नहीं होंगी तो राखी कौन बाँधेगा
रक्षाबंधन की हार्दिक शुभकामनायें

जन्मों का ये बंधन है,
स्नेह और विश्वास का..
और भी गहरा हो जाता है ये रिश्ता..
जब बंधता है धागा रक्षाबंधन के प्यार का…
रक्षा बंधन की शुभ कामनाएं

रक्षा बंधन पर कर रही बहन इंतज़ार
सीमा पर बैठा हुआ है भाई, भेजा हुआ है तार
भारत माँ की सेवा में छूटा हर त्यौहार…

रक्षा बंधन की शुभ कामनाएँ!

हर लड़की तेरे लिए बेक़रार है,
हर लड़की को तेरा इंतज़ार है,
ये तेरा कोई कमाल नहीं,
बस कुछ दिन बाद..
राखी का त्यौहार है

खुदा करे तुझे खुशियाँ हज़ार मिलें
मुझसे भी अछा यार मिले,
मेरी गर्लफ्रेंड तुझे बांधे राखी,
और एक और बहन का प्यार मिले

अगर रक्षा बंधन पर,
कोई लड़की किसी भी लड़के को,
भाई बना सकती है,
तो फिर करवा चौथ पर
पति क्यों नहीं बना सकती..!!

जन्मो का ये बंधन है,
स्नेह और विश्वास का,
और भी गहरा हो जाता है ये रिश्ता,
जब बंधता है धागा रक्षा बंधन के प्यार का..!!

हे रब्ब मेरी दुआओं में इतना असर रहे
फूलों से भरा सदा मेरी बहन का घर रहे..!!

बचपन की वो भीनी स्मृतियां लेकर आया राखी का त्यौहार
बात-बात पर वो रूठना मेरा स्नेह तुम्हारा ज्यूँ बाबुल का प्यार

किसी के ज़ख़्म पैर चाहत से पट्टी कौन बांधेगा,
अगर बहनें नहीं होंगी तो राखी कौन बांधेगा