Raksha Bandhan Shayari For Sister – बहन के लिए रक्षा बंधन शायरी !

अपनी दुआओं में जो, उसका ज़िकर करता है,
वो भाई है जो ख़ुद से पहले, बहन की फ़िकर करता है
रक्षाबंधन की हार्दिक शुभकामनायें

ये लम्हा कुछ ख़ास है,
बहन के हाथो मैं भाई का हाथ है,
ओह सिस्टर तेरे लीये मेरे पास कुछ खास है,
तेरी खुशी के लिए मेरी प्यारी बहन,
तेरा भाई हमेशा तेरे साथ है..!!
रक्षाबंधन की हार्दिक शुभकामनायें

किसी के ज़ख़्म पर चाहत से पट्टी कौन बाँधेगा,
अगर बहनें नहीं होंगी तो राखी कौन बाँधेगा
रक्षाबंधन की हार्दिक शुभकामनायें

जन्मों का ये बंधन है,
स्नेह और विश्वास का..
और भी गहरा हो जाता है ये रिश्ता..
जब बंधता है धागा रक्षाबंधन के प्यार का…
रक्षा बंधन की शुभ कामनाएं

रक्षा बंधन पर कर रही बहन इंतज़ार
सीमा पर बैठा हुआ है भाई, भेजा हुआ है तार
भारत माँ की सेवा में छूटा हर त्यौहार…

रक्षा बंधन की शुभ कामनाएँ!

हर लड़की तेरे लिए बेक़रार है,
हर लड़की को तेरा इंतज़ार है,
ये तेरा कोई कमाल नहीं,
बस कुछ दिन बाद..
राखी का त्यौहार है

खुदा करे तुझे खुशियाँ हज़ार मिलें
मुझसे भी अछा यार मिले,
मेरी गर्लफ्रेंड तुझे बांधे राखी,
और एक और बहन का प्यार मिले

अगर रक्षा बंधन पर,
कोई लड़की किसी भी लड़के को,
भाई बना सकती है,
तो फिर करवा चौथ पर
पति क्यों नहीं बना सकती..!!

जन्मो का ये बंधन है,
स्नेह और विश्वास का,
और भी गहरा हो जाता है ये रिश्ता,
जब बंधता है धागा रक्षा बंधन के प्यार का..!!

हे रब्ब मेरी दुआओं में इतना असर रहे
फूलों से भरा सदा मेरी बहन का घर रहे..!!

बचपन की वो भीनी स्मृतियां लेकर आया राखी का त्यौहार
बात-बात पर वो रूठना मेरा स्नेह तुम्हारा ज्यूँ बाबुल का प्यार

किसी के ज़ख़्म पैर चाहत से पट्टी कौन बांधेगा,
अगर बहनें नहीं होंगी तो राखी कौन बांधेगा

Best Shayari For Sister – बेस्ट शायरी फॉर सिस्टर Hinid Mein !

बारिश की बूंद की तरह है मेरी बहना
जो खुद बिखर कर घर को सजाती है
वो आती है तो घर में नए रंग भर जाती है
और मेरे दिल को खुशियों से भर जाती है

 

बड़े ही अदब और प्रेम से लिखा है
बहना तेरा और मेरा रिश्ता
दूर होकर भी तू दिल में रहती है
तेरी यादे खुशियों की लहर सी बहती है

 

वक्त के साथ बदल जाता है हर रिश्ता
जरूरतें खत्म होते ही मर जाता है रिश्ता
पर लड़ने झगड़ने और दूर होने के बावजूद भी
जिसमें प्यार बढ़ता रहता है वो भाई-बहन का रिश्ता होता है

 

बहना साथ है जो तेरा तो दुनिया जीत लूंगा
वरना दो कदम भी चलना मुश्किल होगा

 

मेरे सिर का ताज हो बहना तुम
यूं ही खुश रहना हरदम तुम
गर आए जिंदगी में कोई गम
तो मुझसे कहना तुम

 

रिश्तो की गहराई को जो समझती है
दो परिवारों में जो खुशियां बिखेरती है
वो बहन नसीब वालों को ही मिलती है

 

जब बहना मेरे घर आंगन आयी
तब खुशियां मेरी घर आयी
बांधी उसने कलाई पर राखी
तब मेरे नसीबो ने आसमान छुआ

 

जो बांध कर कलाई पर धागा
मौत को रोक देती है
वो बहन बड़े नसीबो से मिलती है

 

जान से बढ़कर है मुझको
ये मुस्कान तेरी है
है जो बाक़ीब सही
बस तू बहन एक मेरी है

 

खट्टा मीठा बड़ा अनोखा रिश्ता है
कहलाता तो भाई बहन का रिश्ता है
लेकिन स्वर्ग से भी सुंदर ये रिश्ता है

 

मेरा तेरा रिश्ता बड़ा चुलबुला है
कभी खट्टा तो कभी मिट्ठा है
बस यही खास बात है जो
भाई-बहन को जिन्दगी भर साथ रखती है

 

तुझे सताना अच्छा लगता है
तेरे नए-नए नाम रखना अच्छा लगता है
तेरे साथ वो पुराने पल जीने का मन करता है
भाई-बहन का यही रिश्ता अच्छा लगता है

 

तुझसे लाख तकरार होती है पर
बहना दिल में बस तेरे लिए प्यार होता है

 

उसने सारी कुदरत को बुलाया होगा
फिर उसमें ममता का अक्स समाया हुआ
कोशिश होगी परियों को जमीन पर लाने की
तब जाके खुदा ने बहनों को बनाया होगा

 

जेबो को लूट कर खुशियां भरा करती है
व्यापारी तो नहीं है जनाब
पर बहने सौदा खरा करती है

 

वो कभी सुनाती है तो कभी पुचकारती है
मेरी प्यारी बहन एक पल झगड़ती है
तो दुसरे पल गले लग जाती है
यही प्यार भरा रिश्ता है हमारा

उम्मीद विश्वास और प्यार कि वो मूरत है
मेरी बहना की हर खुशी मेरे लिए जन्नत है

 

चांद सा मुखड़ा फुल जाता है
प्यारी बहना जब रुठ जाती है

 

परियों से भी सुंदर मेरी बहना
मुस्कान तेरे लाखो में एक
तेरी खुशियों के लिए
मै अपनी जिंदगी वार दू

 

जब तू छोटे छोटे कदमो से चलती थी
तेरी पायल मीठी राग सुनाती थी
बहुत प्यारी हो तुम बहना
जीवन भर यु ही संग रहना

 

भोली-भाली सूरत है और प्यारी सी मुस्कान
दिल की है मासूम मग़र मीठी छूरी सी ज़ुबान
चंचल सी हैं आँखें तेरी तू है थोड़ी शैतान
पर मेरी राजकुमारी तू तुझमें बसती मेरी जान

 

हर पल खुशियों का अंबार रहे
मेरी बहना तेरा संसार आबाद रहे

 

पापा की परी हो तुम
मेरे दिल की धड़कन हो तुम
बस यूं ही खुश रहना मेरी प्यारी बहना

 

जिंदगी का तराना यूं ही चलता रहे
मेरी बहना मुझसे यूं ही मिलती रहे
हर ख्वाहिश तेरी पूरी होती रहे

 

खुशियों का सागर हो तुम
निराशा में आशा हो तुम
मीठी सी भाषा हो तुम
कोई और नहीं मेरी प्यारी बहना हो तुम

 

मिले हो तुम मुझको बड़े नसीबों से
चंचल हो शरारती हो
पर बहन हर पल तुम मेरे दिल में रहती हो

 

फूलों का तारों का सबका कहना है
हजारों में नहीं लाखों में मेरी एक बहना है

 

कोहिनूर तो नहीं देखा मैंने कभी
मगर अनमोल होती है बहने
खुद के गम को छुपा हंसना सिखाती है

 

वो प्यारी है वो न्यारी है
हर लम्हा जिसके संग गुजारा
वो बहना मुझको सबसे प्यारी है

Bahan Ke Liye Shayari – बहन के लिए शायरी हिंदी में !

बेशक तुम मेरी जेब खाली कर देती हो
पर दुआओं से मेरी जिंदगी को भर देती हो
इसी अदा पर तो मेरी पूरी जिंदगी फना है प्यारी बहना

 

शिकायत है तो प्यार भी है
मार्गदर्शन है तो जिम्मेदारी भी है
बड़ी पक्की है भाई बहन की ये दोस्ती

 

कच्ची नहीं पक्की है ये दोस्ती
रिश्तो से नहीं प्यार से बनी है ये दोस्ती
भाई-बहन के प्यार कि जीवन भर की है ये दोस्ती

 

रिश्तो में सबसे प्यारा
भाई-बहन का रिश्ता हमारा
अंधेरी में उजाला सबसे निराला
ऐसा रिश्ता है हमारा

 

मेरी बहन है मेरी शान.
इस पर है सब कुछ कुर्बान

 

अगर ख्वाहिशों के आगे कोई जहान है तो
रब करे वो जहान मेरी बहन को मिल जाए

 

फूलों सी मुस्कान है तेरी बहना
हंसती है तू दिल मेरा खुश होता है
तू उद्दास होती है तो दिल मेरा रोता है
ऐसा प्यारा भाई-बहन का रिश्ता हमारा

 

हर ख्वाहिश तेरी पूरी हो जाए
जो हो कुछ अधूरी तो वह मेरी हो जाए
दुआ है रब से बहना तेरा हर पल
खुशियों की बारिश से भीग जाए

 

क्या रीत बनाई है दुनिया वालों में
भाई-बहन का प्यारा रिश्ता तो बनाया
लेकिन कुछ चंद खुशियों
का ही साथ हिस्से में आया

 

मेरी प्यारी छोटी बहना
निडर होकर नदी सी यूं ही बहती रहना
मैं हर कदम साथ रहूंगा तेरे
बस यूं ही हाथ पकड़कर चलना साथ मेरे

 

भाई-बहन का रिश्ता
प्यार और खुशियों का बंधन होता है
वो खून के रिश्तो का मोहताज नहीं होता

 

मंजिल मिल गई लेकिन बहना कहीं दूर चली गई
जब भी तू पास तो हर पल सुहाना लगता था
तेरे बिना जिंदगी का यह सफर रुखा सा लगता है
आजा बहना राखी बांधने के बहाने आजा

 

अपनी खुशियों का घोट कर गला तुमने
जमाने की हर रीत तुमने निभाई
दुआ है रब से अब कोई गम ना आए
तेरी जिंदगी में बहना

 

मैं बादल तो पहली बारिश हो तुम
मैं ठंडी हवा तो खुशबू हो तुम
मेरी प्यारी बहना
जिंदगी नहीं तुम जान हो मेरी

 

हर लम्हा खास होता है
जब बहना मेरी साथ होती है

 

अगर मैं होता हूं उदास तो तेरा चेहरा याद कर लेता हूं
लेकिन तू इतनी दूर चली गई है
अब तू कैसे रहती होगी मेरे बिना
लिख भेजना भाई के नाम खत बहना

 

बचपन की वो बातें
खट्टी मीठी सी शरारतें
बहुत याद आती है बहना
अगले जन्म भी तू ही बनना मेरी बहना

 

आज धरती सुनहरी हो गई
आसमान नीला हो गया
आज बहना जो तू मेरे घर में आ गई
मेरा घर खुशियों से आबाद हो गया

 

तोड़े से भी ना टूटे ऐसा
अटूट रिश्ता है भाई-बहन का हमारा
तू दूर चाहे कितनी भी हो जाए बहना
पर मेरे दिल से दूर कभी ना होना

 

आज पापा लाए है मिठाई बहुत सारी
जी मचला कि खा जाऊं सारी
पर बहना तेरे बिना
मीठी नहीं लगी कोई मिठाई

 

सुबह की पहली किरण जैसी हो तुम
रोज सुबह आकर भाई-भाई कहकर उठाती हो तुम
मेरी प्यारी बहना मेरे जीवन में खुशी नहीं
खुशियों की सौगात हो तुम