Funny Shayari

रोया है फ़ुर्सत से कोई सारी रात यकीनन,
वर्ना रुख़सत-ए- मार्च में यहाँ बरसात नहीं होती।

Leave a Reply