Dua Shayari In Hindi – दुआ शायरी हिंदी में !

अगर आप गूगल पर 2 Line Dua Shayari In Hindi | Islamic Dua Shayari In Hindi | Salamati Ki Dua Shayari In Hindi | Lambi Umar Ki | Dua Shayari In Hindi | Dua Shayari In Hindi Font | Meri Dua Shayari | Dua Shayari In Hindi 140 आदि खोज रहे है तो यह आर्टिकल आपके लिए क्युकी आज हम आपके लिए लाये है Dua Shayari In Hindi – दुआ शायरी हिंदी में जिसे आप अपने सोशल मीडिया पर शेयर कर सकते है तो चलिए शुरू करते है आज का आर्टिकल Dua Shayari In Hindi – दुआ शायरी हिंदी में !

So Let’s Begin,

या खुदा मेरी दुआओं में इतना असर कर दे
खुशियाँ उसे दर्द उसका मुझे नजर कर दे
दिलों से दूरिओं का एहसास मिटा दे ऐ मौला
नहीं तो उसके आँचल को मेरा कफ़न कर दे

2 Line Dua Shayari In Hindi

लौट आती है हर बार दुआ मेरी खाली
जाने कितनी ऊँचाई पर खुदा रहता है
दिल दे तो इस मिज़ाज का परवरदिगार दे
जो रंज की घड़ी भी खुशी से गुजार दे
माँगा करेंगे अब से दुआ हिज्र-ए-यार की
आखिर को दुश्मनी है दुआ की असर के साथ
वो आ गए मिलने हमसे एक शाम तन्हाई मिटाने
और हम समझ बैठे इसे अपनी दुआओं का असर
हज़ार बार जो माँगा करो तो क्या हासिल
दुआ वही है जो दिल से कभी निकलती है
उल्फत-ए-यार में खुदा से और माँगू क्या
ये दुआ है कि तू दुआओं का मोहताज न हो
जाने किस बात पे उस ने मुझे छोड़ दिया है
मैं तो मुफलिस था किसी की दुआओं की तरह
भूल न जाऊं माँगना उसे हर नमाज़ के बाद
यही सोच कर हमने नाम उसका दुआ रक्खा है
माँगा करेंगे अब से दुआ हिज्र-ए-यार की
आखिर को दुश्मनी है दुआ की असर के साथ
वो आ गए मिलने हमसे एक शाम तन्हाई मिटाने
और हम समझ बैठे इसे अपनी दुआओं का असर

2 Line Islamic Dua Shayari In Hindi

मुहब्बत सिर्फ एक दुआ है
और दुआएं सिर्फ रब से मांगी जाती है
कोई तो दुआ ऐसी होगी
जिससे तू मेरी होगी
या अल्लाह मुझे वो अता कर दे
जिसकी मेने तुझसे दुआओ में अर्ज़ी लगाई थी
मोड़ मोड़ पर ज़िन्दगी के जो इम्तेहान देने है तेरे बन्दे को
भरपूर हिम्मत अता फरमा मालिक कही हार ना जाय
तुम को हमसफ़र अपना मन लेते है
चलो तुमको दुआओं से मांग लेते है
किसी के लिए दिल से दुआ मांग कर देखो
खुद के लिए दुआ मांगने की ज़रुरत नहीं पड़ेगी
ना जाने कौन मेरे हक़ में दुआ करता है
डूबता भी हु तो समुन्दर उछाल देता है
सारी उम्र भर यह सबक याद रखना
दोस्ती और दुआ में नियत साफ रखना
आज अगर मेरी ज़िन्दगी में दुःख न होते
तो मेरा अल्लाह के साथ दुआओ में रिश्ता कैसे बनता
या खुदा उसे लिख दे मेरे नसीब मैं
तहज्जुद में उठ कर मांगती हु जिसे मैं
अपनी दुआ पर इतना यकीं रखो
जितना यकीं तुम्हे अपनी साँस पर है
तुमने मेरी चाहत की हदो को कहा जाना है
मेने बाद नमाज़े तहज्जुद भी दुआओ में तुम्हे ही माँगा है
मेरे गम की दवा उनकी दुआ का दीदार करती है
हम दुआ मांगते समय अक्सर रोया करते है
और फिर हम उन्हें खुदगर्ज़ नज़र आते है
यह अलग बात है की सुनी तेरी गई
वर्ण वो खुदा तो मेरा भी है
मैं आदमजात हु खुदा तू जानता तो है
ज्यादा आजमाइश पर जन्नत हार जाऊंगा
दुआ करो की किसी के मुँह से आपके लिए
बद्दुआ न निकले
जो कभी न ख़तम हो वो किताब हो तुम
लगता है मेरी नेकियों का हिसाब हो तुम
बोहोत खूबसूरत लोगो से नवाज़ा है ज़िन्दगी ने मुझे
जो भूल से कोई खता हो गई हो तो माफ़ कर देना
कुछ ऐसी भी चोटे काम आई
न दवा काम आई न दुआ काम आई
सुनो !!!
आ रहे हो ज़िन्दगी में या फिर मांगू खुदा से
दुआ तो दिल से मांगी जाती है ज़ुबा से नहीं
क़ुबूल तो उनकी भी होती है जिनकी ज़ुबा नहीं
किसी ने पूछा भूके को समझने का तरीका क्या है
मैंने रमज़ान में रोज़े रखने का अक़ीदा बता दिया
झुके जब यह सर मेरा खुदा की इबादत में
तुम होंटो पर मेरी पहली दुआ बनकर चली आना
तेरे लबो की मुस्कान बता रही है
दुआ क़ुबूल हुई है मेरी
करता हु उस खुदा से बस एक यही दुआ
मेरे हिस्से की खुशियां भी मिले तुझको ही सदा

Islamic Dua Shayari In Hindi

ए खुदा मेरे हक़ में यह मुकाम आय
के मेरी दुआ में नाम आता है उसका
काश उसकी भी दुआ में मेरा नाम आय जाय
अगर ख़ुशी मिलती है तुम्हे हमसे बात ना करके
तो दुआ है मेरी रब से के तुम्हारी
ख़ुशी कभी काम न हो
हम दर्द बर्दाश्त कर लेते है इतनी आस के साथ
की खुदा नूर भी बरसता है
बहुत सारी आज़माइश के बाद
वो कच्चे मकानों के लिए
बारिश तूफान बन कर आई है
दुआ करो सबकी चाहत सलामत रहे
हर सजदा आपका मंज़ूर ए खुदा हो जाय
आप की दुआओ पे रब की राजा हो जाय
खुदा आपको इतनी खुशियां दे के
आपकी ज़िन्दगी से लफ्ज़ ए गम फ़ना हो जाय
आसमान का चाँद तेरी बाहो में हो
तू जो चाहे तेरी राहो में हो
हर वो ख्वाब हो पूरा
जो तेरी आँखों में हो
दुआ ही तो मेषकीमती है
दवा तो अक्सर कीमत अदा करने पर
मिल जाया करती है
सर झुकाने की अदा भी कमल की होती है
सजदा ज़मीन पर होता है
और दुआ आसमान तक जाती है
माना की आपकी किस्मत में नहीं हु
पर खुदा से मुझे न मांगना
यह तो गलत बात है ना
मैं अगर घाव से भरा हु तो
वो दवा है मेरी
मैं कही मरने को पड़ा हु तो
वो दुआ है मेरी
कई बार दुआ मांगी थी
तब मेरे नसीब ने तू आया है
कई राते गवाई थी तहज्जुद में
तब जेक तुझे किस्मत में लिखवाया है
ए खुदा फैलाने न पड़े हाथ इतना काबिल बना
किसी की दुआओ के लिए उठते रहे हाथ
ये काम भी बुरा नहीं
दुआ में तुझसे क्या मांगू ए खुदा ?
बस इतनी सी हसरत है
सलामत रखना उसको
जिसके कदमो में मेरी जन्नत है
मुश्किल वक़्त में हमेशा दुआ करे
क्यों की जहा से इंसान का हौसला ख़तम होता है
वहा से खुदा की रेहमत शुरू होती है
मेरी इबादत को ऐसे क़ुबूल कर ए मेरे मोला
की सजदे में झुकू तो मुझसे जुड़े
हर रिश्ते की ज़िन्दगी सवर जाय
रब से आपकी ख़ुशी मांगते है
दुआओ में आपकी हसी मांगते है
सोचते है क्या मांगे आपसे
चलो उम्र भर की मोहब्बत मांगते है
वफाओं ​की बातें की जफ़ाओं के सामने​
​ले चले हम चिराग़ हवाओं के सामने​
​उठे हैं जब भी हाथ बदली हैं क़िस्मतें​
​मजबूर है ​खुदा भी दुआओं के सामने​
तेरी मोहब्बत की तलब थी
इसलिए हाथ फैला दिए
वरना हमने तो अपनी
ज़िन्दगी की भी दुआ नहीं माँगी
तू मिल जाए मुझे बस इतना ही काफी है​
मेरी हर साँस ने बस ये ही दुआ माँगी है​
जाने क्यूँ दिल खिंचा जाता है तेरी तरफ​
क्या तूने भी मुझे पाने की दुआ माँगी है​
तकदीर लिखने वाले एक एहसान लिख दे
मेरी मोहब्बत की तकदीर में मुस्कान लिख दे
ना मिले ज़िन्दगी में कभी भी दर्द उसको
चाहे उसकी किस्मत में मेरी जान लिख दे
जीने की उसने हमें नई अदा दी है
खुश रहने की उसने हमें दुआ दी है
ऐ खुदा उसको खुशियाँ तमाम देना
जिसने अपने दिल में हमें जगह दी है
वफाओं ​की बातें की जफ़ाओं के सामने​
​ले चले हम चिराग़ हवाओं के सामने​
​उठे हैं जब भी हाथ बदली हैं क़िस्मतें​
​मजबूर है ​खुदा भी दुआओं के सामने​
मेरी तलब था एक शख़्स
वो जो नहीं मिला तो फिर
हाथ दुआ से यूँ गिरा
भूल गया सवाल भी
चाँद निकलेगा तो लोग दुआ मांगेंगे
हम भी अपने मुकद्दर का लिखा मांगेंगे
हम तलबगार नहीं दुनिया की दौलत के
हम रब से सिर्फ आपकी वफ़ा मांगेंगे
जीने की उसने हमें नई अदा दी है
खुश रहने की उसने हमें दुआ दी है
ऐ खुदा उसको खुशियाँ तमाम देना
जिसने अपने दिल में हमें जगह दी है
हमारे सब्र का इम्तिहान न लीजिये
हमारे दिल को यूँ सजा न दीजिये
जो आपके बिना जी न सके एक पल
उन्हें और जीने की दुआ न दीजिये
Spread the love

Leave a Comment