Dil Ko Chune Wali Shayari – दिल को छूने वाली शायरी हिंदी में !

इक धोखा हमने भी खा कर देख लिया
क्या हुआ हम हुए जो उदास
उन्होंने तो अपना दिल बहला के देख लिया..!!

 

लोग कहते है कि सिर्फ नफ़रत में दर्द होता है
कभी गौर करो तो प्यार भी रुलाता है
झूठे प्यार का दिलासा भी मिलता है जिन्दगी में
और कभी कभी प्यार का एहसास भी रुलाता है..!!

 

इश्क ऐसा था कि उनको बता ना सके
चोट थी दिल पे जो दिखा ना सके
नहीं चाहते थे हम उनसे दूर होना
लेकिन दूरी इतनी थी कि हम मिटा ना सके..!!

 

रब से आपकी खुशीयां मांगते है
दुआओं में आपकी हंसी मांगते है
सोचते है आपसे क्या मांगे
चलो आपसे उम्र भर की मोहब्बत मांगते है

 

जानने की कोशिश की थी तुमको
तुमने कभी मुझ पर ध्यान ना दिया
औरों पर तुम्हे गहरा विश्वास था
जिसने अपना समझा उस पर विश्वास ना किया

 

मुझे समझना है तो बस अपना समझ लेना
क्योंकि हम अपनों का साथ
खुद से ज़्यादा निभाते है

 

सच जान लो अलग होने से पहले
सुन लो मेरी भी अपनी सुनने से पहले
सोच लेना मुझे भुलने से पहले
रोई है बहुत ये आंखे मुस्कुराने से पहले

 

पास आ ज़रा दिल की बात बताऊँ तुझको
कैसे धड़कता है दिल की आवाज़ सुनाऊँ तुझको
आकर देख ले दिल पर नाम लिखा है तेरा
तूँ कहे तो दिल चीर के दिखाऊँ तुझको

 

हस्ती मिट जाती है आशियाँ बनाने मे
बहुत मुस्किल होती है अपनो को समझाने मे
एक पल मे किसी को भुला ना देना
ज़िंदगी लग जाती है किसी को अपना बनाने मे..!!

 

जो कहते थे तुझसे बिछड़ने के बाद
वीरान हो जाएगी ज़िन्दगी
आज पूरे शहर में उन्हीं का घर सबसे रोशन मिला

 

दिल का दर्द एक राज बनकर रह गया
मेरा भरोसा मजाक बनकर रह गया
दिल के सोदागरोसे दिल लगी कर बैठे
शायद इसीलिए मेरा प्यार इक अल्फाज बनकर रह गया

 

हम वो नही जो तुम्हे गम में छोड़ देंगे
Ham वी नही जो तुजसे नाता तोड़ देंगे
हम वो हे जो तुम्हारी साँसे रुके तो
अपनी साँसे छोड़ देंगे..!!

 

तेरी याद आई ती थोड़ा उदास हो जाऊंगा
जिन्दगी से फिर एक बार निराश ही जाऊंगा
कभी सोचा भी ना था ऐसा भी होगा
तेरी खुशी के लिए मै खुद को रूलाऊंगा 

 

उसके सिवा किसी और को चाहना मेरे बस में नहीं
ये दिल उसका है अपना होता तो बात और थी

 

फिर कोई ज़ख्म मिलेगा तैयार रह ऐ दिल
कुछ लोग फिर पेश आ रहे हैं बहुत प्यार से

 

मेरे जान को मेरी दो ही बात बहुत पसंद है
प्यार की झप्पी और Lips पर पप्पी

 

मेरे दिल में ज्यादा देर तक रुकता नहीं कोई..
लोग कहते हैं मेरे दिल में साया है तेरा

 

खुशी मेरी काँच के जैसी थी ऐदोस्तों
ना जाने कितनों को चुभ गयी

 

बिखरे अरमान भीगी पलकें और ये तन्हाई
कहूँ कैसे कि मिला मोहब्बत में कुछ भी नहीं

 

चलो यूँ ही सही हम बेवफ़ा हैं
मगर ये तो बताएँ आप क्या हैं

 

हमे कहां मालुम था इश्क होता क्या है,
बस एक तुम मिलें और जिन्दगी मुहब्बत बन गई

 

पूरी दुनिया नफरतों में जत रही है
फिर भी ना जाने कैसे ठंड तगरही है

 

सुनो जानू वह जो लाखों में एक होता है ना
मेरे लिए आप वही हो

 

गुस्सा इतना के मैसेज ना करना और प्यार इतना
की बार बार देखना उनका मैसेज आया के नहीं

 

टुकड़े पड़े थे राह में किसी हसीना की तस्वीर के
लगता है कोई दीवाना आज समझदार हो गया

 

न जाने क्या बात है
तुझमें जो तुझसे बात करते ही सारे दर्द दूर हो जाते हैं

Spread the love

Leave a Comment