आग लगाना मेरी फितरत में नही है – Aag Lagaana Meri Phitrat Mein Nahee Hai !

आग लगाना मेरी फितरत में नही है
मेरी सादगी से लोग जलें तो मेरा क्या कसूर..!

Leave a Reply