कौन कहता है कि मुसाफिर ज़ख्मी नही होते – Kaun Kahta Hai Ki Musaafir Zakhmee Nahin Hote !

कौन कहता है कि मुसाफिर ज़ख्मी नही होते..!
रास्ते गवाह है..! बस कमबख्त गवाही नही देते!

Spread the love

Leave a Comment